9 October 2010

बहना की पहचान है राखी

RAKHI
बहना की पहचान है राखी| 
भाई का अभिमान है राखी||

संबंधों की परिभाषा है| 
रिश्तों का गुणगान है राखी||

छोटी सी इक डोर है लेकिन|
 ताक़त लिए महान है राखी||

बहना का अपने भैया से| 
रक्षा का अरमान है राखी||

लड्डू, बरफी, कंद, समौसे| 
इन से सजी दुकान है राखी||

3 comments:

  1. .

    नवीन जी ,
    बहुत सुंदर !


    रक्षाबंधन की शुभकामनाएं !

    ReplyDelete
  2. नवीन जी बहुत सुन्दर रचना है| बधाई रक्षाबंधन के पावन अवसर पर |सूनी रहे न कलाई मेरे भाई की है यही दुआ और आशीष आज के अवसर पर |
    आशा

    ReplyDelete
  3. बहना की पहचान है राखी ।
    भाई का अभिमान है राखी ॥
    नवीनभाई, त्यौहार विशेष की प्यारी सी ग़ज़ल हेतु सादर धन्यवाद. अरसे बाद आपको सुन रहा हूँ.
    रक्षाबन्धन की हार्दिक शुभकामनाएँ.

    --सौरभ पाण्डेय, नैनी, इलाहाबाद (उप्र)

    ReplyDelete